Sharmindagi Hai Humko -John Elia

Sharmindagi Hai Humko -John Elia

 
Hello friends kaise hai aap log aaj mai john elia ki behatareen shayari ke sath aaya hu jise badi hi sanjidagi se likha gaya hai,,,khoon thookne waale is shayar ko aap sab to jante hi honge dard ko inhone is tarah se udheda hai jaise ki duniya ka har dard inhi ke daman me akar gira ho….zindagi ke har lamho ko inhone apne sher me bataya hai…agar aap john elia ke fan hai to plzz batayein aur is shayari ko apne doston aur parivaar me zaroor share karein..thank you all
 

 

Sharmindagi Hai Humko -John Elia

 

शर्मिंदगी है हम को बहुत हम मिले तुम्हें

तुम सर-ब-सर ख़ुशी थे मगर ग़म मिले तुम्हें

 

Sharmindagi Hai Ho Ko Bahut Hum Mile Tumhe

Tum Sar-b-Sar Khushi The Magar Gum Mile Tumhe

 

मैं अपने आप में न मिला इस का ग़म नहीं

ग़म तो ये है के तुम भी बहुत कम मिले तुम्हें

 

Mai Aapne Aap Me N Mila Is Ka Gum Nahi

Gum Toh Ye Hai Ki Tum Bhi Bahut Kam Mile Tumhe

 

है जो हमारा एक हिसाब उस हिसाब से

आती है हम को शर्म के पैहम मिले तुम्हें

 

Hai Jo Hamara Ek Hisaab Us Hisaab Se

Aati Hai Hum Ko Sharm Ke Paiham Mile Tumhe

 

तुम को जहान-ए-शौक़-ओ-तमन्ना में क्या मिला

हम भी मिले तो दरहम ओ बरहम मिले तुम्हें

 

Tumko Jahan-e-Shauk-o-Tamanna Me Kya Mila

Hum Bhi Mile Toh Darham Mile Tumhe

 

अब अपने तौर ही में नहीं तुम सो काश के

ख़ुद में ख़ुद अपना तौर कोई दम मिले तुम्हें

 

Ab Apne Taur Hi Me Nahi Tum So Kash Ke

Khud Me Khud Apna Taur Koi Dum Mile Tumhe

 

इस शहर-ए-हीला-जू में जो महरम मिले मुझे

फ़रियाद जान-ए-जाँ वही महरम मिले तुम्हें

 

Is Shehar-e-Heela-Joo Me Jo Mahram Mile Mujhe

Fariyaad Jaan-e-Jawaan Wahi Mahram Mile Tumhe

 

देता हूँ तुम को ख़ुश्की-ए-मिज़गाँ की मैं दुआ

मतलब ये है के दामन-ए-पुर-नम मिले तुम्हें

 

Deta Hu Tum Ko Khuski-e-Mijawaan Ki Mai Duwa

Matlab Ye Hai Ke Daman-e-Pur-Nam Mile Tumhe

 

मैं उन में आज तक कभी पाया नहीं गया

जानाँ जो मेरे शौक़ के आलम मिले तुम्हें

 

Mai Un Me Aaj Tak Kabhi Paaya Nahi Gaya

Jaana Jo Mere Shauk Ke Aalam Mile Tumhe

 

तुम ने हमारे दिल में बहुत दिन सफ़र किया

शर्मिंदा हैं के उस में बहुत ख़म मिले तुम्हें

 

Tum Ne Hamare Dil Me Bahut Din Safar Kiya

Sharminda Hai Ke Us Me Bahut Kham Mile Tumhe

 

यूँ हो के और ही कोई हव्वा मिले मुझे

हो यूँ के और ही कोई आदम मिले तुम्हें

 

Yun Ho Ke Aur Hi Koi Hawa Mile Mujhe

Ho Yun Ki Aur Hi Koi Aadam Mile Tumhe

 


Read More –