Paisa Shayari In Hindi | धन पर शायरी

Paisa Shayari In Hindi | धन पर शायरी

 

ऐब भी छुप जाएँगे
पास है पैसा बहुत – प्रकाश पुरोहित

 

Aib Bhi Chup Jayenge

Pass Hai Paisa Bahut – Prakash Purohit

 

सिफ़ारिश का भरोसा भी नहीं है
मगर पैसा बराबर बोलता है – नज़ीर मेरठी

 

Sifarish Ka Bharosa Bhi Nahi Hai

Magar Paisa Barabar Bolata Hai – Nazeer Merathi

 

यार पैसा तो कमाते फिर रहे हैं दोस्त सब
नाम हम को था कमाना शाइरी करने लगे – तनोज दाधीच

 

Yaar Paisa Toh Kamate Phir Rahe Hai Dost Sab

Naam Hamko Tha Kamana Shayari Karne Lage – Tanoj Dadheech

 

मुझ को मिलेगा बीमे का पैसा न एक भी
”ये जानता तो आग लगाता न घर को मैं” – टी एन राज़

 

Mujh Ko Milega Beeme Ka Paisa N Ek Bhi

Ye Janata Toh Aag Lagata N Ghar Ko Mai – T N Raj

 

वैसे पैसा ही सब कुछ है इस दुनिया में
लेकिन पैसे पर भी थूका जा सकता है – सौरभ शेखर

 

Vaise Paisa Hi Sab Kuch Hai Is Duniya Me

Lekin Paise Par Bhi Thooka Ja Sakta Hai – Saurabh Shekhar

 

वो ग़रीबों को दान क्या करता
धर्म ईमान जिस का पैसा है – क़दीर अयाज़

 

Wo Gareebon Ko Daan Kya Karta

Dharm Imaan Jis Ka Paisa Hai – Kadeer Ayaaz

 

जोड़ रहे हैं पैसा पैसा सब लेकिन
सब दुनिया में छोड़ के जाना पड़ता है – करीम दरवेश

 

Jod Rahe Hai Paisa-Paisa Sab Lekin

Sab Duniya Me Chhod Ke Jaana Padta Hai – Kareem Darwesh

 

सब से पहले दिल के ख़ाली-पन को भरना
पैसा सारी उम्र कमाया जा सकता है – शकील जमाली

 

Sab Se Pehale Dil Ke Khaalipan Ko Bharana

Paisa Saari Umr Kamaya Ja Sakta Hai – Shakeel Jamali

 

ब्याज में खेत न ज़ेवर न वो धन चाहता है
सूद-ख़ोर आज तो बेवा का बदन चाहता है – राजीव रियाज़ प्रतापगढ़ी

 

Byaaj Me Khet N Jevar N Wo Dhan Chahata Hai

Sood-Khor Toh Aaj Bewa Ka Badan Chahata Hai – Rajiv Riyaz Pratapgadhi

 


Read More –