Neend Shayari In Hindi | नींद शायरी

Neend Shayari In Hindi | नींद शायरी

 

तुम नींद में बहुत ख़ूबसूरत लगती हो
तुम्हें सोते में चलना चाहिए – अफ़ज़ाल अहमद सय्यद

 

Tum Neend Me Bahur Khubsurat Lagti Ho

Tumhe Sote Me Chalna Chahiye – Afzaal Ahmad Sayyed

 

नींद क्या है ज़रा सी देर की मौत
मौत क्या क्या है तमाम उम्र की नींद – जगन्नाथ आज़ाद

 

Neend Kya Hai Zara Si Der Ki Maut

Maut Kya Kya Hai Tamaam Umr Ki Neend – Jagannath Azaad

 

सुनो अगर वो कभी भी आए तो ध्यान रखना
मुझे बहुत नींद आ रही है – ख़ालिद मुबश्शिर

 

Suno Wo Agar Kabhi Bhi Aaye Toh Dhyaan Rakhna

Mujhe Bahut Neend Aa Rahi Hai – Khalid Mubashhir

 

Neend Shayari In Hindi | नींद शायरी

 

नींद आए तो कुछ सुराग़ मिले
कौन है दफ़्न मेरे ख़्वाबों में – त्रिपुरारि

 

Neend Aaye Toh Kuch Suraag Mile

Kaun Hai Dafn Mere Khwabon Me – Tripuraari

 

इस सफ़र में नींद ऐसी खो गई
हम न सोए रात थक कर सो गई – राही मासूम रज़ा

 

Ik Safar Me Neend Aisi Kho Gayi

Hum N Soye Raat Thak Kar So Gayi – Raahi Masoom Raza

 

नींद ज़रा सी जब भी आने लगती है
याद तुम्हारी शोर मचाने लगती है – नाहीद अख़्तर बलूच

 

Neend Zara Si Jab Bhi Aane Lagti Hai

Yaad Tumhari Shor Machane Lagti Hai – Naheen Akhtar Balouch

 

Neend shayari funny

 

नींद रातों की उड़ा देते हैं
हम सितारों को दुआ देते हैं – मोहम्मद अल्वी

 

Neend Raaton Ki Udaa Dete Hai

Hum Sitaaron Ko Dua Dete Hai – Mohammad Alvi

 

नींद से रिश्ता कोई जोड़ा नहीं
ख़्वाब तो हम ने कभी देखा नहीं – प्रेम ढींगरा भटनेरी

 

Neend Se Rishta Koi Joda Nahi

Khwaab Toh Hamne Kabhi Dekha Nahi – Prem Dhingra Bhatneri

 

वो रात नींद की दहलीज़ पर तमाम हुई
अभी तो ख़्वाब पे इक और ख़्वाब धरना था – अतीक़ुल्लाह

 

Wo Raat Neend Ki Dehleej Par Tamaam Hui

Abhi Toh Khwaab Pe Ik Aur Khwaab Dharna Tha – Atikullah

 

आज फिर नींद को आँखों से बिछड़ते देखा
आज फिर याद कोई चोट पुरानी आई – इक़बाल अशहर

 

Aaj Phir Neend Ko Aankho Se Bicharte Dekha

Aaj Phir Yaad Koi Chot Puraani Aayi – Iqbal Ashahar

 

neend nahi aati shayari

 

करता हूँ नींद में ही सफ़र सारे शहर का
फ़ारिग़ तो बैठता नहीं सोने के बावजूद – ज़फ़र इक़बाल

 

Karta Hu Neend Me Hi Safar Sare Shehar Ka

Faarig Toh Baithata Nahi Sone Ke Waawjood – Zafar Iqbal

 

फ़रिश्ता नींद का नाराज़ है मुझ से ये कहता है
बहुत दिन सो लिए बेदार रह कर भी ज़रा देखो – सरवत हुसैन

 

Farishta Neend Ka Naraaz Hai Mujhse Ye Kehta Hai

Bahut Din So Liye Be-Daar Rehkar Bhi Zara Dekho – Sarvar Husain

 

अजीब ख़्वाब था आँखों में नींद छोड़ गया
कि नींद गुज़री है मुझ को ज़लील करते हुए – आलोक मिश्रा

 

Ajeeb Khwaab Tha Aankho Me Neend Chora Gaya

Ki Neend Gujri Hai Mujhko Jaleel Karte Hue – Alok Mishra

 

चलो अच्छा हुआ आख़िर तुम्हारी नींद भी टूटी
चलो अच्छा हुआ अब तुम भी ख़्वाबों से निकल आए – ख़ुशबीर सिंह शाद

 

Chalo Achcha Hua Akhir Tumhari Nind Bhi Tooti

Chalo Achcha Hua Ab Tum Bhi Khwaabon Se Nikal Aaye – Khushbeer Singh Shaad

 

इक नींद की वादी से गुज़ारा गया मुझ को
फिर ख़्वाब की दहलीज़ पे मारा गया मुझ को – शमशीर हैदर

 

Ik Neend Ki Vaadi Se Gujaara Gaya Mujh Ko

Phir Khwaab Ki Dehleej Pe Maara Gaya Mujh Ko – Shamsheer Haidar

 

पा कर भी तो नींद उड़ गई थी
खो कर भी तो रत-जगे मिले हैं – अहमद नदीम क़ासमी

 

Pa Kar Bhi Toh Ninde Ud Gayi Thi

Kho Kar Bhi Toh Rat Jage Mile Hai – Ahmad Nadeem Kasami

 

shayari on neend

 

छीन लीं ख़ुशियाँ मिरी आँखों से मेरी नींद भी
ज़िंदगी तू ने मुझे अब तक दिया कुछ भी नहीं – अनीस देहलवी

 

Cheen Li Khusiyaan Meri Ankho Se Meri Neend Me

Zindagi Tune Mujhe Ab Tak Diya Kuch Bhi Nahi – Anees Dehalavi

 

नींद की गोली न खाओ नींद लाने के लिए
कौन आएगा भला तुम को जगाने के लिए – शिवकुमार बिलग्रामी

 

Neend Ki Goli N Khaao Nind Laane Ke Liye

Kaun Ayega Bhala Tum Ko Jagane Ke Liye – Shiv Kumar Bilgrami

 

नींद उड़ जाएगी रातों को शिकायत होगी
मैं न समझा था तुम्हें इतनी मोहब्बत होगी – जावेद कमाल रामपुरी

 

Neend Ud Jayegi Raaton Ko Shikayat Hogi

Maine Samjha Tha Tumhe Itni Mohabbat Hogi – Javed Kamaal Rampuri

 

खुलेगी नींद ख़्वाबों का घरौंदा टूट जाएगा
हक़ीक़त रू-ब-रू होगी तो सपना टूट जाएगा – मशकूर ममनून क़न्नौजी

 

Khulegi Neend Khwaabon Ka Gharaunda Toot Jayega

Hakikat Ru-b-Ru Hogi Toh Sapna Toot Jayega – Mashkoor Mamnoon Kannauji

 

नींद की आँख-मिचोली से मज़ा लेते हैं
फेंक देते हैं किताबों को उठा लेते हैं – महशर इनायती

 

Neend Ki Aankh-Michauli Se Maza Lete Hai

Fenk Dete Hai Kitaabon Ko Utha Lete Jai – Mehshar Inayati

 

Neend Status In Hindi

 

तुम्हारे ख्वाबों को गिरवी रखके,
तकिये से रोज़ रात थोड़ी नींद उधार लेता हूँ

 

Tumhare Khwaab Ko Girvi Rakh Ke

Takiye Se Roz Raat Thodi Neend Udhaar Leta Hu

 

नींद आएगी जिस दिन तो इस तरह सोयेंगे,
मुझे जगाने के लिए लोग रोयेंगे

 

Neend Aayegi Jis Din Toh Is Tarah Soyenge

Mujhe Jagane Ke Liye Log Royenge 

 

न करवटे थी न बेचैनियाँ थी,
क्या गजब की नीँद थी मोहब्बत से पहले

 

N Karwatein Thi N Bechainiyaa Thi

Kya Gajab Ki Nind Thi Mohabbat Se Pehle

 

रात भी नींद भी कहानी भी
हाए क्या चीज़ है जवानी भी – फ़िराक़ गोरखपुरी

 

Raat Bhi Neend Bhi Kahani Bhi

Haaye Kya Cheez Hai Jawani Bhi – Firaq Gorakhpuri

 

नींद को लोग मौत कहते हैं
ख़्वाब का नाम ज़िंदगी भी है – अहसन यूसुफ़ ज़ई

 

Neend Ko Log Maut Kehte Hai

Khwaab Ka Naam Zindagi Bhi Hai – Ahsan Yusuf Jaae

 

नींद मत ढूँड मेरी आँखों में
सिलवटें देख मेरे बिस्तर पर – इक़बाल ख़ावर

 

Neend Mat Dhoondh Meri Aankho Me

Silvatein Dekh Mere Bistar Par – Iqbal Khavar

 

ये सर्द रात ये आवारगी ये नींद का बोझ
हम अपने शहर में होते तो घर गए होते – उम्मीद फ़ाज़ली

 

Ye Sard Raat Ye Avaragi Ye Neend Ka Bojh

Hum Apne Shehar Me Hote Toh Ghar Gaye Hote – Umeed Fazali

 


Read More –