Maut Shayari In Hindi | मौत शायरी इन हिंदी

Maut Shayari In Hindi | मौत शायरी इन हिंदी

 

 

इंतज़ार है हमें तो बस अपनी मौत का,
उनका वादा है कि उस दिन मुलाकात होगी

 

Intezaar Hai Hamein Toh bas Apni Maut Ka

Unka Waada Hai Ki Us Din Mulakaat Hogi

 

Maut Ki Shayari In Hindi

 

 

मौत ही इंसान की दुश्मन नहीं
ज़िंदगी भी जान ले कर जाएगी-अर्श मलसियानी

 

Maut Hi Insaan Ki Dushman Nahi

            Zindagi Bhi Jaan Lekar Jayegi – Arsh Malsiyaani

 

 

मौत से तो दुनिया मरती है,
आशिक तो प्यार से ही मर जाता है

 

Maut Se Toh Duniya Marti Hai

Aashiq Toh Pyaar Se Hi Mar Jaata Hai

Maut Shayari In Hindi 140 Character

 

 

मोहब्बत और मौत की पसन्द तो देखो यारो 

एक को दिल चाहिए और दुसरे को धड़कन 

 

Mohabbat Aur Maut Ki Pasand Toh Dekho Yaaron

Ek Ko Dil Chahiye Aur Dusre Ko Dhadkan

Meri Maut Shayari

 

बे-तअल्लुक़ ज़िंदगी अच्छी नहीं
                       ज़िंदगी क्या मौत भी अच्छी नहीं -हफ़ीज़ जालंधरी

 

Be- Talluk Zinadgi Achchi Nahi

             Zindagi Kya Maut Bhi Achchi Nahi – Hafeez Jalandhari

Maut Shayari 2 Lines Hindi

 

 

कहाँ ढूंढोगे मुझको, मेरा पता लेते जाओ,
एक कब्र नई होगी उस पर जलता दिया होगा

Kaha Dhoondhoge Mujhko Mera Pata Lete Jao

Ek Kabr Nai Hogi Us Par Jalta Diya Hoga

 

Maut Shayari In Hindi For Love

 

 

वो कर नहीं रहे थे मेरी बात का यकीन,
फिर यूँ हुआ के मर के दिखाना पड़ा मुझे

 

Wo Kar Nahi Rahe The Meri Baat Ka Yakeen

Phir Yun Hua Ke Mar Ke Dikhaana Pada Mujhe

 

Shayari On Maut And Zindagi

 

ये जो मेरी मौत पर रो रहे है,

अभी उठ जाऊं तो जीने नहीं देंगे

 

Ye Jo Meri Maut Par Ro Rahe Hai

Abhi Uth Jaun Toh Jeene Nahi Denge

 

ज़िंदगी इक हादसा है और कैसा हादसा
                        मौत से भी ख़त्म जिस का सिलसिला होता नहीं -जिगर मुरादाबादी

 

Zindagi Ik Haadsa Hai Aur Kaisa Haadsa

    Maut Se Bhi Khatm Jiska Silsila Hota Nahi – Jigar Muradabaadi

 

सुलगती जिंदगी से मौत आ जाये तो बेहतर है,
हमसे दिल के अरमानों का अब मातम नहीं होता

 

Sulagati Zindagi Se Maut Aa Jaaye Toh Behtar Hai

Hamse Dil Ke Aarmaanon Ka Ab Matam Nahi Hota

 

आई होगी किसी को हिज्र में मौत
                   मुझ को तो नींद भी नहीं आती-अकबर इलाहाबादी

 

Aayi Hogi Kisi Ko Hizr Me Maut

                MujhKo Toh Nind Bhi Nahi Aati – Akbar Illahabadi

 

कौन कहता है कि मौत आई तो मर जाऊँगा
मैं तो दरिया हूँ समुंदर में उतर जाऊँगा –
अहमद नदीम क़ासमी

 

Kaun Kehta Hai Ki Maut Aayi Toh Mar Jaunga

 

  Mai Toh Dariya Hu Samandar Me Utar JaungaAhmad Naseem Kaasmi

 

आता है कौन कौन तेरे ग़म को बांटने,
तू अपनी मौत की अफवाह उड़ा के देख

Aata Hai Kaun-Kaun Tere Gum Ko Baantne

Tu Apni Maut Ka Afwaah Uda Ke Dekh

 

माँगी थी एक बार दुआ हम ने मौत की
शर्मिंदा आज तक हैं मियाँ ज़िंदगी से हम

Maangi Thi Ek Baar Dua Hamne Maut Ki

Sharminda Aaj Tak Hai Miyaan Zindagi Se Hum

 

पता नहीं कौन सा जहर मिलाया था तुमने मोहब्बत में
ना जिंदगी अच्छी लगती है और ना ही मौत आती है

Pata Nahi Kaun Sa Zehar Milaaya Tha Tumne Mohabbat Me

Na Zindagi Achchi Lagti Hai Na Hi Maut Aati Hai

 

जो लोग मौत को ज़ालिम क़रार देते हैं
                ख़ुदा मिलाए उन्हें ज़िंदगी के मारों से -नज़ीर सिद्दीक़ी

 

Jo Log Maut Ko Zaalim Karaar Dete Hai

         Khuda Milaye Unhe Zindagi Ke Maaron SeNazeer Siddiqui

 

मौत को तो यूँ ही बदनाम करते है लोग,
तकलीफ तो साली ज़िन्दगी देती है

 

Maut Ko Yun Hi Badnaam Karte Hai Log

Takleef Toh Saali Zindagi Deti Hai

 

मौत का भी इलाज हो शायद
                    ज़िंदगी का कोई इलाज नहीं -फ़िराक़ गोरखपुरी

 

Maut Ka Ilaaz Ho Shayad

         Zindagi Ka Koi Ilaaz NahiFiraaq Gorakhpuri

 


Read More –