Judaai Shayari In Hindi | जुदाई शायरी

Judaai Shayari In Hindi | जुदाई शायरी

Judaai Shayari In Hindi | जुदाई शायरी

 

 

ये ठीक है नहीं मरता कोई जुदाई में
               ख़ुदा किसी को किसी से मगर जुदा न करे -क़तील शिफ़ाई

 

Ye Theek Hai Nahi Marta Koi Judaai Me

             Khuda Kisi Ko Kisi Se Magar Juda Na KareQateel Shifaai

 


 

ख़ुश्क ख़ुश्क सी पलकें और सूख जाती हैं
           मैं तिरी जुदाई में इस तरह भी रोता हूँ-अहमद राही

 

Khusk-Khusk Si Palke Aur Sookh Jaati Hai

           Mai Teri Judaai Me Is Tarah Bhi Rota Hai – Ahmad Raahi

 


 

तिरी तलाश में निकले तो इतनी दूर गए
                 कि हम से तय न हुए फ़ासले जुदाई के -जुनैद हज़ीं लारी

 

Teri Talash Me Nikle Toh Itne Door Gaye

           Ki Hum Se Tay N Hue Faasle Judaai Ke– Junaid Harzi Laari

 


 

जुदाइयों के ज़ख़्म दर्द-ए-ज़िंदगी ने भर दिए,
तुझे भी नींद आ गई मुझे भी सब्र आ गयानासिर काज़मी

 

Judaaiyon Ke Zakhm Dard-e-Zindagi Ne Bhar Diye

          Tujhe Bhi Nind Aa Gayi Mujhe Bhi Sabr Aa Gaya– Naasir Kaazmi

 


 

अब जुदाई के सफ़र को मिरे आसान करो
              तुम मुझे ख़्वाब में आ कर न परेशान करो -मुनव्वर राना

 

Ab Judaai Ke Safar Ko Mere Asaan Karo

                  Tum Mujhe Khwaab Me Akar N Pareshaan Karo Munavvar Rana

 


 

इस क़दर मुसलसल थीं शिद्दतें जुदाई की
आज पहली बार उस से मैं ने बेवफ़ाई की -अहमद फ़राज़

 

Is Qadar Musalsal Thi Shiddatein Judaai Ki

Aaj Pehali Baar Usase Maine Bewafaai Ki – Ahmad Faraz

 


 

तेरी जुदाई का शिकवा करूँ भी तो किससे करूँ,

यहाँ तो हर कोई अब भी मुझे, तेरा समझता हैं

 

Teri Judaai Ka Shikwa Karu Bhi Toh Kisase Karu

Yahan Toh Har Koi Ab Bhi Mujhe Tera Samajhta Hai

 


 

Shayari On Judaai

अब अगर मेल नहीं है तो जुदाई भी नहीं,
बात तोड़ी भी नहीं तुमने तो बनाई भी नहीं

 

Ab Agar Mail Nahi Hai Toh Judaai Bhi Nahi

Baat Todi Bhi Nahi Tumne Toh Banaai Bhi Nahi

 


 

जिस की आँखों में कटी थीं सदियाँ

उस ने सदियों की जुदाई दी है -गुलज़ार

 

Jiski Aankho Me Kati Thi Sadiyaan

 Usne Sadiyon Ki Judaai Di Hai – Gulzaar

 


 

उसके बारे में बहुत सोचता हूँ
मुझ से बिछड़ा तो किधर जाएगा -फ़रहत अब्बास शाह

 

Uske Baare Me Bahut Sochta Hoon

Mujhse Bichra Toh Kidhar Jayega – Farhat Abbas Shah

 


 

ज़िंदगी नाम है जुदाई का
आप आए तो मुझ को याद आया -नरेश कुमार शाद

 

Zindagi Naam Hai Judaai Ka

Aap Aaye Toh Mujhko Yaad Aaya– Naresh Kumar Shaad

 


 

मजबूरी में जब कोई किसी से जुदा होता है,
ये तो ज़रूरी नहीं कि वो बेवफ़ा होता है

 

Majboori Me Jab Koi Kisi Se Juda Hota Hai

Ye Toh Zaruri Nahi Ki Wo Bewafa Hota Hai

 


 

अब के हम बिछड़े तो शायद कभी ख़्वाबों में मिलें
जिस तरह सूखे हुए फूल किताबों में मिलें -अहमद फ़राज़

 

Ab Ke Hum Bichre Toh Shayad Kabhi Khwabon Me Milein

Jis Tarah Sookhe Hue Phool Kitaabon Me Milein – Ahmad Faraz

 


 

उस मेहरबाँ नज़र की इनायत का शुक्रिया
तोहफ़ा दिया है ईद पे हम को जुदाई का

 

Us Meharbaan Nazar Ki Inayat Ka Shukriya

Tohfa Diya Eid Pe Humko Judaai ka

 


 

वस्ल में रंग उड़ गया मेरा
            क्या जुदाई को मुँह दिखाऊँगा -मीर तक़ी मीर

 

Vasl Me Rang Ud Gaya Mera

            Kya Judaai Ko Muh Dikhaunga – Meer Taki Meer

 


 

कभी कभी तो ये दिल में सवाल उठता है
कि इस जुदाई में क्या उस ने पा लिया होगा -अनवार अंजुम

 

Kabhi -Kabhi Toh Ye Dil Me Sawaal Uthata Hai

Ki Is Judaai Me Kya Usne Paa Liya Hoga– Anwaar Anjum

 


 

कट ही गई जुदाई भी कब ये हुआ कि मर गए,
तेरे भी दिन गुजर गए मेरे भी दिन गुजर गए

 

Kat Hi Gayi Judaai Bhi Kab Ye Hua Ki Mar Gaye

Tere Bhi Din Guzar Gaye Mere Bhi Din Guzar Gaye

 


Read More –