Jhooth Shayari In Hindi | झूठ शायरी

Jhooth Shayari In Hindi | झूठ शायरी

 

झूठ तो बैठ के खाता है
सच कमा कर लाता है – शारिक़ कैफ़ी

 

Jhooth Toh Baith Ke Khaata Hai

Sach Kamakar Laata Hai – Sharik Kaifi

 

कितनी झूठी होती हैं मोहब्बत की कसमें
बिछड के देखो वो भी जिंदा है और मैं भी

 

Kitni Jhoothi Hoti Hai Mohabbat Ki Kasamein

Bichad Ke Dekho Wo Bhi Zinda Hai Aur Mai Bhi

 

कितनी गहरी ये शनासाई लगे
झूठ वो बोले तो सच्चाई लगे – संतोष खिरवड़कर

 

Kitni Gehri Yeh Shanashaayi Lage

Jhooth Wo Bole Toh Sachchi Lage – Santosh Khirwadkar

 

कुछ मीठा सा नशा था उसकी झूठी बातों मे
वो वक्त गुज़ारता गया और हम आदी होते गये

 

Kuch Meetha Sa Nasha Tha Uski Jhoothi Baaton Me

Wo Wakt Gujarata Gaya Aur Hum Aadi Hote Haye

 

झूट पर उस के भरोसा कर लिया
धूप इतनी थी कि साया कर लिया – शारिक़ कैफ़ी

 

Jhooth Par Uske Bharosa Kar Liya

Dhoop Itni Thi Ki Saaya Kar Liya – Sharik Kaifi

 

मत करना फिर से कभी, ये झूठा प्यार का वादा
आज ही हमने मांगी हैं दुआ, तुझे भूल जाने की

 

Mat Karna Phir Se Kabhi, Ye Jhootha Pyaar Ka Waada

Aaj Hi Hamne Maangi Hai Dua, Tujhe Bhool Jaane Ki

 

jhooth bolane wali shayari

 

झूठ का बढ़ गया चलन इतना
आइनों पर भी आज तोहमत है – ख़ालिद अख़लाक़

 

Jhooth Ka Badh Gaya Chalan Itna

Aaino Par Bhi Aaj Tohmat Hai – Khalid Akhlaak

 

मैं सच कहूँगी मगर फिर भी हार जाऊँगी
वो झूट बोलेगा और ला-जवाब कर देगा – परवीन शाकिर

 

Mai Sach Kahungi Magar Phir Bhi Haar Jaungi

Wo Jhooth Bolega Aur Laajwaab Kar Dega – Parveen Shakir

 

अजीब शहर है तेरा किसी की सुनता नहीं
यहाँ पे झूठ का क़िस्सा सफ़र में रहता है – अनमोल सावरण कातिब

 

Ajeeb Shehar Hai Tera Kisi Ki Sunta Nahi

Yahan Pe Jhooth Ka Kissa Safar me Rehta Hai – Anmol Savaran Kaatib

 

दिल हमेशा आपका कर्जदार रहेगा।
सच्ची मोहब्बत ना सही झूठी मोहब्बत तो की

 

Dil Hamesha Aap Ka Karzdaar Rahega

Sachchi Mohabbat Na Sahi Jhoothi Mohabbat Toh Ki

 

वो झूट बोल रहा था बड़े सलीक़े से
मैं एतबार न करता तो और क्या करता – वसीम बरेलवी

 

Wo Jhooth Bol Raha Tha Bade Saleeke Se

Mai Aitbaar N Karta Toh Aur Kya Karta – Waseem Barelavi

 

जिंदगी का क्या पता कल क्या हो,
झूठ बोल दो अगर किसी का भला हो

 

Zindagi Ka Kya Pata Kal Kyaa Ho

Jhooth Bol Do Agar Kisi Ka Bhala Ho

 

दिल को तो मैं ने झूठ से बहला लिया मगर
थोड़ा बहुत तो शोर मचाना पड़ा मुझे – मुंतज़िर फ़िरोज़ाबादी

 

Dil Ko Toh Maine Jhooth Se Bahla Liya Magar

Thoda Bahur Toh Shor Machana Pada Mujhe – Muntzair Firozabadi

 

झूठ से, सच से जिससे भी यारी रख़ें
आप अपनी तकरीर जारी रख़ें – राहत इंदौरी

 

Jhooth Se Sach Se, Jisase Bhi Yaari Rakkhe

Aap Apni Takreer Jaari Rakkhe – Rahat Indori

 

झूट के आगे पीछे दरिया चलते हैं
सच बोला तो प्यासा मारा जाएगा – वसीम बरेलवी

 

Jhooth Ke Aage Dariya Chalte Hai

Sach Bola Toh Pyaasa Maara Jayega – Waseem Barelavi

 

सच बोलकर मैंने इज्जत गंवाई है,
तो झूठ बोलने में क्या बुराई है।

 

Sach Bolkar Maine Ijjat Gawayi Hai

Toh Jhooth Bolne Me Kya Buraayi Hai

 


Read More –