Hichki Shayari In Hindi | हिचकी शायरी

Hichki Shayari In Hindi | हिचकी शायरी

 

आख़री हिचकी तिरे ज़ानूँ पे आए
मौत भी मैं शाइराना चाहता हूँ – क़तील शिफ़ाई

 

Aakhiri Hichki Tere Janu Pe Aaye
Maut Bhi Mai Shayarana Chahata Hu – Qateel Shifai

 

कही बैठी वो मेरा जिक्र कर मुस्कुरा रही होगी,

ये हिचकी शाम से यूँ ही तो नही आ रही होगी

 

Kahin Baithi Wo Mera Zikr Kar Muskura Rahi Hogi

Ye Hichki Shaam Se Yun Hi Toh Nahi Aa Rahi Hogi

 

कई दिन से कोई हिचकी नहीं है

वो हम को याद अब करती नहीं है – नादिम नदीम

 

Kai Din Se Koi Hichki Nahi Hai

Wo Hamko Yaad Ab Karti Nahi Hai – Nadim Nadeem

 

मुझे याद करने से ये मुद्दआ था

निकल जाए दम हिचकियाँ आते आते  – दाग़ देहलवी

 

Mujhe Yaad Karne Se Ye Mudda Tha
Nikal Jaaye Dam Hichkiyan Aate-Aate – Dagh Dehalvi

 

उसे याद थी कल की तारीख़ शायद
सिसकती रही ले के हिचकी उदासी – आलोक मिश्रा

 

Use Yaad Thi Kal Ki Tarikh Shayad
Sisakati Rahi Le Ke Hichki Udaasi– Alok Mishra

 

अब हिचकियाँ आती हैं तो पानी पी लेते हैं…

ऐ दोस्तों, ये वहम छोड़ दिया है कि कोई याद करता है

 

Ab Hichakiyaan Aati Hai To Paani Pi Lete Hai
Ae Dost, Ye Waham Chor Diya Ki Koi Yaad Karta Hai

 

कर दिया तेरे तग़ाफ़ुल ने अधूरा मुझ को

एक हिचकी अगर आ जाए तो पूरा हो जाऊँ – महशर आफ़रीदी

 

Kar Diya Tere Tagaful Ne Adhoora Mujh Ko
Ek Hichki Agar Aa Jaaye To Mai Poora Hi Jaun – Mahshar Aafridi

 

जब याद जो करूँ मैं तो हिचकी तुम्हें लगे

देखो तो दिल ने दिल से कहाँ राब्ता किया – शम्सा नज्म

 

Jab Yaad Jo Mai Karun Toh Hichki Tumhe Lage
Dekho Toh Dil Ne Sil Se Kahan Raabta Rakkha – Shamsha Nazm

 

अमीर’ अब हिचकियाँ आने लगी हैं,

कहीं मैं याद फ़रमाया गया हूँ? – अमीर मीनाई

 

“Ameer” Ab Hichakiyaan Aane Lagi Hai
Kahin Mai Yaad Farmaaya Gaya Hu – Ameer Minaai

 


Read More –