Hasi Shayari In Hindi | हँसी शायरी

Hasi Shayari In Hindi | हँसी शायरी

 

हँसी हँसी में हर इक ग़म छुपाने आते हैं
हसीन शेर हमें भी सुनाने आते हैं – रईस सिद्दीक़ी

 

Hasi-Hasi Me Har Ik Gum Chupaane Aate Hai

Haseen Sher Hamein Bhi Sunane Aate Hai – Rasees Siddiqui

 

ग़म हँसी में छुपा दिया होगा
चश्म-ए-नम ने बता दिया होगा – अलमास शबी

 

Gum Hasi Me Chupa Diya Hoga

Chashm-e-Nam Ne Bata Diya Hoga – Almaas Shabi

 

बिजलियों की हँसी उड़ाने को
ख़ुद जलाता हूँ आशियाने को – नरेश कुमार शाद

 

Bijaliyon Ki Hasi Udaane Ko

Khud Jalata Hu Aashiyaane Ko – Naresh Kumar Shaad

 

किसे ख़बर थी लबों से हँसी भी छीनेगा
ज़माना हम से हमारी ख़ुशी भी छीनेगा – मुकेश इंदौरी

 

Kise Khabar Thi Labon Se Hasi Bhi Cheenega

Zamana Hum Se Hamari Khushi Bhi Cheenega – Mukesh Indori

 

Shayari On Hasi

 

ज़ब्त कर के हँसी को भूल गया
मैं तो उस ज़ख़्म ही को भूल गया – जौन एलिया

 

Zabt Kar Hasi Ko Bhool Gaya

Mai Toh Us Zakhm Hi Ko Bhool Gaya – John Elia

 

हँसी में ग़म छुपाया जा रहा है
ब-ज़ाहिर मुस्कुराया जा रहा है – नसीम रिफ़अत ग्वालियारी

 

Hasi Me Gum Chupaaya Ja Raha Hai

B-Zaahir Muskuraya Ja Raha Hai – Naseem Rifat Gvaliyar

 

Shayari on Muskurahat

 

दिल में ग़म आँख में हँसी देखी
यूँ भी अश्कों की ख़ुद-कुशी देखी – प्रेम भण्डारी

 

Dil Me Gum Aankh Me Hasi Dekhi

Yun Bhi Ashqo Ki Khudkushi Dekhi – Prem Bhandari

 

हँसी छुपा भी गया और नज़र मिला भी गया
ये इक झलक का तमाशा जिगर जला भी गया – मुनीर नियाज़ी

 

Hasi Chupa Bhi Gaya Aur Nazar Mila Bhi Gaya

Ye Ik Jhalak Ka Tamasha Jigar Jala Bhi Gaya – Muneer Niyaazi

 

Hasi Shayari In Hindi | हँसी शायरी

 

हँसी है दिल-लगी है क़हक़हे हैं
तुम्हारी अंजुमन का पूछना क्या – मुबारक अज़ीमाबादी

 

Hasi Hai Dil-Lagi Hai Kah-Kahe

Tumhari Anjuman Ka Poochana Kya – Mubarak Ajeemabadi

 

बहुत से ग़म छुपे होंगे हँसी में
ज़रा इन हँसने वालों को टटोलो – वक़ार मानवी

 

Bahut Se Gum Chupe Honge Hasi

Zara In Hasane Waalon Ko Tatole – Waqar Manavi

 

फिर कोई जश्न मनाओ कि हँसी आ जाए
गीत इक ऐसा सुनाओ कि हँसी आ जाए – शौकत परदेसी

 

Phir Koi Jashn Manaao Ki Hasi Aa Jaaye

Geet Ek Aisa Sunaao Ki Hasi Aa Jaaye – Shaukat Pradeshi

 

मज़ाक़ सहना नहीं है हँसी नहीं करनी
उदास रहने में कोई कमी नहीं करनी – स्वप्निल तिवारी

 

Majaak Sahna Nahi Hai Hasi Nahi Karni

Udaas Rahne Me Koi Kami Nahi Karni – Swapnil

 

तभी वहीं मुझे उस की हँसी सुनाई पड़ी
मैं उस की याद में पलकें भिगोने वाला था – फ़रहत एहसास

 

Tabhi Wahi Mujhe Us Ki Hasi Sunaayi Padi

Mai Us Ki Yaad Me Palakein Bhigone Waala Tha – Farhat Ehsaas

 

Smile shayari in hindi

 

अपनी नाकाम मोहब्बत पे हँसी आती है
दिल की बिगड़ी हुई क़िस्मत पे हँसी आती है – सेवक नैयर

 

Apni Nakaam Mohabbat Pe Hasi Aati Hai

Dil Ki Bigadi Hui Kismat Pe Hasi Aati Hai – Sevak Naiyar

 

आगे आती थी हाल-ए-दिल पे हँसी
अब किसी बात पर नहीं आती – मिर्ज़ा ग़ालिब

 

Aage Aati Thi Haal-e-Dil Pe Hasi

Ab Kisi Baat Par Nahi Aati – Mirza Ghalib

 

आज देखा था आइना मैं ने
और फिर देर तक हँसी थी मैं – जानाँ मलिक

 

Aaj Dekha Tha Aaina Maine

Aur Phir Dekh Tak Hasi Thi Maine – Jaana Malik

 

मेरे लब पर हँसी जो आई है
वो भी अपनी नहीं पराई है – क़मर सीवानी

 

Mere Lab Par Hasi Jo Aayi Hai

Wo Bhi Apni Nahi Parayi Hai – Qamar Siwani

 

हँसी उन की गुल और चमन जानते हैं
ये लब मुस्कुराने का फ़न जानते हैं – असद रिज़वी

 

Hasi Un Ki Gul Aur Chaman Janate Hai

Ye Lab Muskurane Ka Fan Janate Hai – Asad Rizvi

 

हँसी आने की बात है हँस रहा हूँ
मुझे लोग दीवाना फ़रमा रहे हैं – मंज़र लखनवी

 

Hasi Aane Ki Baat Hai Has Raha Hu

Mujhe Log Deewana Farma Rahe Hai – Manjar Lakhnavi

 

Shayari On Smile

 

हँसी में टाल तो देता हूँ अक्सर
मगर मैं ख़ुश नहीं बर्बाद हो कर – अंजुम ख़याली

 

Hasi Me Taal Toh Deta Hu Aksar

Magar Mai Khush Nahi Barbaad Ho Kar – Anjum Khayali

 

मिलती मुद्दत में है और पल में हँसी जाती है
ज़िंदगी यूँ ही कटी यूँ ही कटी जाती है – भवेश दिलशाद

 

Milti Muddat Me Hai Aur Pal Me Hasi Jaati Hai

Zindagi Yun Hi Kati, Yun Hi Kati Jaati Hai – Bhavesh Dilshaad

 

होंटों की हँसी दर्द का दरमाँ तो नहीं है
मेरी ही तरह तू भी परेशाँ तो नहीं है – ख़ालिद सज्जाद

 

Honthon Ki Hasi Dard Ka Darmaan Toh Nahi Hai

Meri Hi Tarah Tu Bhi Pareshaan Toh Nahi Hai – Khalid Sajjad

 

जवाब में न खुलें लब तो क्या इलाज उस का
हँसी हँसी में कोई मेरी बात टाल गया – मुनव्वर लखनवी

 

Jawaab Me N Khule Lab Toh Kya Ilaaj Us Ka

Hasi-Hasi me Koi Meri Baat Taal Gaya – Munavvar Lakhanavi

 

आप आए तो दिलकशी आई
लब पे गुलशन के भी हँसी आई – असलम बाराबंकवी

 

Aap Aaye Toh Dikashi Aayi

Lab Pe Gulshan Ke Bhi Hasi Aayi – Aslam Barabanki

 

इतना नादान भी नहीं है वो
जो तुम्हारी हँसी समझता है – बशीर महताब

 

Itna Nadaan Bhi Nahi Hai Wo

Jo Tumhari Hasi Samajhata Hai – Baseer Mehtab

 

अजब सूरत से दिल घबरा रहा है
हँसी के साथ रोना आ रहा है – सिराज लखनवी

 

Ajab Surat Se Dil Ghabra Raha Hai

Hasi Ke Sath Rona Aa Raha Hai – Siraj Lakhanavi

 

जिन के होंटों पे हँसी पाँव में छाले होंगे
हाँ वही लोग तुम्हें चाहने वाले होंगे – परवाज़ जालंधरी

 

Jin Ke Hontho Pe Hasi Paaw Me Chaale Honge

Ha Wahi Log Tumhe Chahane Wale Honge – Parwaaz Jalandhari

 

अपनी हँसी को हाल का पैमाना कीजिए
जितनी ख़ुशी है नाप के उतनी बताएगी – फ़रह रिज़वी

 

Apni Hasi Ko Haal Ka Paimana Kijiye

Jitni Khushi Hai Naap Ke Utni Batayegi – Farah Rizvi

 


Read More –