Chudi Shayari In Hindi | चूड़ी पर शायरी

Chudi Shayari In Hindi | चूड़ी पर शायरी

 

जिस तरह हाथ की चूड़ी का खनकना तय है

ठीक वैसे ही मिरे दिल का धड़कना तय है – नीलोफ़र नूर

 

Jis Tarah Hath Ki Chudi Khanakana Tay Hai
Thik Vaise Hi Mere Dil Ka Dhadakana Tay Hai – Nilofar Noor

 

चादर कंघी काजल चूड़ी
जाने क्या क्या ले आता है – ज़ेहरा निगाह

 

Chadar Kanghi Kajal Chudi
Jaane Kya – Kya Le Jaata Hai

 

मोहब्बत हाथ में पहनी गयी  चूड़ी की तरह होती है,
खनकती है, संवरती है और आखिर टूट जाती है

 

Mohabbat Hath Me Pehani Gayi Chudi Ki Tarah Hoti Hai
Khanakati Hai ,Sawarati Hai Aur Aakhir Toot Jaati Hai

 

तेरे ख़त उम्र भर का हासिल हैं

चूड़ी इक काँच की निशानी है – शबाना यूसुफ़

 

Tere Khata Umr Bhar Ka Haasil Hai

Chudi Ik Kanch Ki Nisaani Hai – Shabana Yusuf

 

 तेरी कलाई जो पकडूँ तो शोर मचाती है,
ये चूड़ियाँ आखिर तेरी लगती क्या हैं

 

Teri Kalayi Jo Pakadu Toh Shor Machati Hai
Ye Chudiyan Aakhir Teri Kya Lagti Hai

 

तुम्हारी चूड़ी की जैसे छन-छन
तुम्हारे लहजे में वो खनक है – हसनैन आक़िब

 

Tumhari Chudi Ki Jaise Chan-Chan
Tumhare Lehaje Me Wo Khanak Hai – Hasnain Aaqib

 

तेरी धुन है मिरी पाज़ेब की झंकारों में
अब तो चूड़ी भी खनकती है तुझे क्या मालूम – क़मर सुरूर

 

Teri Dhun Hai Meri Pajeb Ki Jhankaaron Me
Ab Toh Chudi Bhi Khanakati Hai Tujhe Kya Maloom – Qamar Suroor

 

हाथों की चूड़ी की ज़बान समझ लेते हो
फैले हुए गजरे के दुख से ना-वाक़िफ़ हो – हुमैरा राहत

 

Hathon Ki Chudi Ki Zabaan Samajh Lete Ho
Faile Hue Gajare Ke Dukh Se Na Wakif Ho – Humaira Rahat

 


Read More –