Bewafa Shayari In Hindi | बेवफा शायरी

 

Bewafa Shayari In Hindi | बेवफा शायरी

 

जब तक न लगे एक बेवफाई की ठोकर,
हर किसी को अपने महबूब पे नाज़ होता है

 

Jab Tak N Lage Ek Be-Wafaai Ki Thokar
Har Kisi Ko Apne Mehboob Par Naaz Hota Hai

 

चला था ज़िक्र ज़माने की बेवफ़ाई का
सो आ गया है तुम्हारा ख़याल वैसे ही-अहमद फ़राज़

 

Chala Tha Zikr Zamane Ki Bewafaai Ki
So Aa Gaya Hai Tumhara Khayal Waise Hi -Ahmad Faraz

 

क्या जानो तुम बेवफाई की हद दोस्तों,
वो हमसे इश्क सीखती रही किसी ओर के लिए

 

Kya Jaano Tum Bewafaai Ki Had Doston
Wo Hamse Seekhati Rahi Kisi Aur Ke Liye

 

काम आ सकीं न अपनी वफ़ाएँ तो क्या करें
उस बेवफ़ा को भूल न जाएँ तो क्या करें -अख़्तर शीरानी

 

Kaam Aa Saki N Apni Wafayein Toh Kya Karein
Us Bewafa Ko Bhool Jayen Toh Kya Karein -Akhtar Sheerani

 

Bewafa Ki Shayari

 

मेरी निगाहों में बहने वाला ये आवारा से अश्क
पूछ रहे है पलकों से तेरी बेवफाई की वजह

 

Meri Nigahon Me Behane Wala Ye Awara Se Ashq
Pooch Rahe Hai Palkon Se Teri Bewafaai Ki Wajah

 

मुझे शिकवा नहीं कुछ बेवफ़ाई का तेरी हरगिज़,
गिला तो तब हो अगर तूने किसी से निभाई हो– ख़्वाजा मीर दर्द

 

Mujhe Shikwa Nahi Kuch Bewafaai Ka Teri Hargiz
Gila Toh Tab Ho Agar Tune Kisi Se Nibhaai Hi -Khwaza Mir Dard

 

Bewafa Shayari In Hindi | बेवफा शायरी

 

खुदा ने पूछा क्या सज़ा दूँ उस बेवफ़ा को,
दिल ने कहा मोहब्बत हो जाए उसे भी

 

Khuda Ne Poocha Kya Saza Du Us Bewafa Ko
Dil Ne Kaha Mohabbat Ho Jaaye Use Bhi

 

वो बेवफा हर बात पे देता है परिंदों की मिसाल,
साफ साफ नहीं कहता मेरा शहर छोड़ दो

 

Wo Bewafa Har Baat Pe Deta Hai Parindo Ki Misaal
Saaf-Saaf nahi Kehata Mera Shehar Chod Do

 

नज़ारे तो बदलेंगे ही ये तो कुदरत है,
अफ़सोस तो हमें तेरे बदलने का हुआ है

 

Nazare Toh Badlenge Hi Ye Toh Kudarat Hai
Afsos Toh Hamein Tere Badalne Ka Hua Hai

 

तेरी बेवफाई का सौ बार शुक्रिया,
मेरी जान छूटी…इश्क़-ऐ-बवाल से

 

Teri Bewafaai Ka Sau Baar Shukriya
Meri Jaan Chooti…Ishq-e-Bawaal Se

 

Bewafa Shayari With Images

 

वो साथ थी तो मानो जन्नत थी जिंदगी दोस्तों,
अब तो हर सांस जिंदा रहने कि वजह पूछती है

 

Wo Sath Thi Toh Maano Jannat Thi Zindagi Dosto
Ab Toh Har Sana Zinda Rehane Ki Wajah Poochati Hai

 

ट्रैफिक सिग्नल पर आज उसकी याद आ गई,
रंग उसने भी अपना कुछ इसी तरह बदला था

 

Traffic Signal Par Aaj Uski Yaad Aa Gayi
Rang Usne Bhi Apna Badla Kuch Isi Tarah Badla Tha

 

सर झुकाओगे तो पत्थर भी देवता हो जाएगा
इतना मत चाहो उसे वो बेवफा हो जाएगा

 

Sar Jhukaoge Toh Patthar Bhi Devata Ho Jayega
Itna Mat Chaho Use Wo Bewafa Ho Jayega -Bashir Badr

 

अब के अब तस्लीम कर लें तू नहीं तो मैं सही,
कौन मानेगा कि हम में से बेवफा कोई नहीं

 

Ab Ke Ab Tasleem Kar Le Tu Nahi Toh Mai Nahi
Kaun Manega Ki Hum Se Bewafa Koi Nahi

 

Bewafa Sad Shayari

 

मिल ही जाएगा कोई ना कोई टूट के चाहने वाला,
अब शहर का शहर तो बेवफा हो नहीं सकता

 

Mil Hi Jayega Koi Na Koi Toot Ke Chahane Waala
Ab Shehar Ka Shehar Toh Bewafa Ho Nahi Sakta

 

वो सुना रहे थे अपनी वफाओ के किस्से,
हम पर नज़र पड़ी तो खामोश हो गए

 

Wo Suna Rahe The Apni Wafao Ke Kisse
Hum Par Nazar Padi Toh Khamosh Ho Gaye

 

सिर्फ एक ही बात सीखी इन हुस्न वालों से हमने​​,
​हसीन जिसकी जितनी अदा है वो उतना ही बेवफा है

 

Sirf Ek Hi Baat Seekhi In Hisn Walon Se Hamne
Haseen Jiski Jitni Ada Hai Wo Utna Hi Bewafa Hai

 

बेवफा से दिल लगा लिया नादान थे हम,
गलती हमसे हुई क्योंकि इंसान थे हम

 

Bewafa Se Dil Laga Liya Nadaan The Hum
Galti Hamse Hui Kyunki Insaan The Hum

 

कुछ तो मजबूरियाँ रही होंगी
यूँ कोई बेवफ़ा नहीं होता-बशीर बद्र

 

Kuch Toh Majbooriyan Rahi Hongi
Yun Koi Bewafa Nahi Hota -Bashir Badr

 


 
Read More –